Dainik Prayukti

Newspaper

Dainik Prayukti and prayukti.net official page on Facebook.
For complete news coverage: www.prayukti.net.

https://en.wikipedia.org/wiki/Dainik_Prayukti


नमस्कार ...!

मौजूदा वक्त में अखबार निकालना और चलाना बड़ी चुनौती है। वह भी तब, जब नैतिकता और शुचिता के साथ इस दीप को प्रज्ज्वलित किया जा रहा हो। हम पहले दिन से मूल्यपरक पत्रकारिता का संकल्प ले चुके हैं।
प्रयुक्ति महज अखबार नहीं, वह महायज्ञ है। हम इसमें हिस्सा लेने के लिए आप जैसे मनीषियों का शुरू से आह्वान करते रहे हैं।
हम पत्रकारिता के इस कुरुक्षेत्र में अर्जुन बनकर खड़े हैं।
हमारी कोशिश है कि पत्रकारिता के मौजूदा परिदृश्य को बदला जा सके।
हमारा प्रयास है कि प्रयुक्ति जनसरोकारी पत्रकारिता का मानक बन सके। न्यू लुक/न्यू कांसेप्ट, न्यू मैथेड और फ्रेश फीलिंग का अहसास कराए। कुरुक्षेत्र के इस महाभारत में हम ग्लोबल जर्नलिज्म विद ह्यूमन टच में भरोसा करते हैं।

ज्ञानी वह होता है जो समस्या का समाधान कर सके। हमारी टैग लाइन सच, सोच और समाधान है। हम अपनी वचनबद्धता (कमिटमेंट) को फिर दोहरा रहे हैं। हम सपनों और शब्दों के सौदागर नहीं, हम जनता की आवाज के हरकारे हैं। प्रयुक्ति की प्राण प्रतिष्ठा में हमने यही कोशिश की है। हमारा मानना है अखबार दैवीय शक्तियां निकालती हैं।

"दूसरों की अपेक्षा, अगर आपको सफलता यदि देर से
मिले तो निराश नहीं होना चाहिए, क्योंकि मकान बनने
से ज्यादा समय महल बनने में लगता है।"

यह महान सोच जिस भी दार्शनिक की है, उसे हम सैल्यूट करते हैं। और यही हमारी सोच के केंद्र में है। ऐसी ऊंची सोच को मूर्तरूप देने के लिए हमने 3 P- फार्मूला पर काम किया।
P1- प्लानिंग ( हमने प्रयुक्ति की थीम और स्ट्रक्चर को प्लान किया।)
P2.प्रीपरेशन ( हमने पूरी प्रतिबद्धता के साथ अर्थपूर्ण समाचार पत्र समाज को देने का संकल्प लिया।)
P3. प्रजेंटेशन-( खूबसूरत अखबार देने की प्लानिंग की)। और सफल भी हुए...।

आप यकीन करें, प्रयुक्ति (दैनिक) ऐसा अखबार है, जो पहले दिन से यह मानकर चल रहा है कि अखबार में खबर का होना सिर्फ समस्या परोसना नहीं है। जहां खबर सिर्फ शिकायत भर नहीं होगी। प्रयुक्ति में खबर सिर्फ खबर होती है। सच के साथ होती है। समाधान के साथ होती है। हम भ्रम नहीं फैलाते। कुल मिला कर एक वाक्य में कहें तो-हम खबर में तथ्यों और विश्लेषण के साथ सच-सोच-समाधान प्रस्तुत करते हैं। हमने पहले अंक में घोषणा की थी कि प्रयुक्ति रूटीन से मुक्ति की युक्ति है। हम इस पर पहले दिन से अमल कर रहे हैं। क्योंकि

“प्रयुक्ति एक सच...
प्रयुक्ति एक सोच...
प्रयुक्ति एक समाधान...”

प्रयुक्ति- सच-सोच-समाधान है।

हम मूल्यपरक पत्रकारिता के लिए आखिरी क्षण तक संघर्ष करेंगे। हम किसी व्यक्ति विशेष की नहीं, हम सिर्फ और सिर्फ समाज की अंतिम और उपेक्षित इकाई की आवाज बनकर व्यवस्था के कानों में गूंजेंगे।

टीम प्रयुक्ति
Team Prayukti

0:20
vasco da gama
2 years ago
1:18
Air Pollution
2 years ago
0:12
siddaramaiah
2 years ago
1:16
मुंह में जलती मोमबत्तियां रख बनाया रिकॉर्ड, गिनीज बुक में पहले से 89 बार दर्ज है नाम =================================================== आप अपने मुंह में कितनी कैंडल्स रख सकते हैं? अगर आप से कहा जाए कि ये कैंडल्स जली हुई हों तो आप अपने मुंह में कितनी कैंडल्स रख सकते हैं। शायद आप इस सवाल का जवाब न दें पाएं, लेकिन हम आपको बताते हैं कि मुंबई के दिनेश शिवनाथ उपाध्याय ने यह कारनामा कर गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड अपने नाम दर्ज करा लिया है।दिनेश पेशे से साइंस टीचर हैं और उन्होंने अपने मुंह में 22 जलती हुई मोमबत्ती रखने का रिकॉर्ड कायम किया है। गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड के फेसबुक पेज पर इसका वीडियो शेयर किया गया है। जिसमें लिखा है कि उन दोस्तों को टैग करों जिनका बर्थडे हो। इससे पहले उपाध्याय अपने मुंह में 12 मोमबत्तियां रखने का रिकॉर्ड बना चुके हैं। उपाध्याय ने इससे पहले बी कई रिकॉर्ड जीते हैं उनके नाम एक मिनट में सबसे ज्यादा अंगूर खाने का खिताब भी है। वीडियो साभार- Guinness World Records
2 years ago
0:13
मनसे कार्यकर्ताओं की मनमानी, कल्याण स्टेशन पर फेरीवालों से मारपीट ============================================================== ठाणे: राज ठाकरे की पार्टी महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) के कार्यकर्ताओं ने ठाणे और कल्याण स्टेशन के बाहर मौजूद अवैध फेरीवालों की पिटाई की और उनके सामान फेंक डाले. उन्होंने कई फेरीवालों के ठेले भी तोड़ डाले. एलफिंस्टन पुल हादसे के बाद मनसे के प्रमुख राज ठाकरे ने राज्य सरकार को 15 दिन के अंदर अवैध फेरीवालों को हटाने की चेतावनी दी थी. उन्होंने यह भी कहा था कि अगर सरकार उन्हें हटाने में असफल रहती है, तो 16वें दिन से उनके कार्यकर्ता ये काम करेंगे. ठाणे में मनसे के करीब 25 कार्यकर्ताओं ने सतीश रेलवे ब्रिज पर सामान बेच रहे करीब दो दर्जन फेरीवालों को भगा दिया. #MANASE #Mumbai #RajThackeray
2 years ago
0:50
जिस विडियो को शेयर कर किरण बेदी हो रही ट्रोल ================================ इस वीडियो में एक बुज़ुर्ग महिला गुजराती गाने पर नाचती हुईं दिख रही हैं. किरण बेदी इस वीडियो को शेयर करते हुए लिखती हैं, ''97 साल की उम्र में दीपावली की स्पिरिट. ये नरेंद्र मोदी की मां हीराबेन मोदी हैं, वो अपने घर पर दिवाली मना रही हैं. '' किरण बेदी के इस ट्वीट को सोशल मीडिया पर कुछ लोग प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं. ट्वीट पर रिप्लाई करने वालों का कहना है कि इस वीडियो में दिख रही बुज़ुर्ग महिला मोदी की मां नहीं हैं. किरण बेदी ने इस ट्वीट पर खिचाई के चार घंटे बाद सफाई पेश की. किरण ने लिखा, ''मुझे गलत पहचान बताई गई. लेकिन इस शक्तिशाली मां को मैं सलाम करती हूं. उम्मीद करती हूं कि मैं जब 96 साल की होऊंगी, तब मैं उनके जैसी हो पाऊंगी.'' इस वीडियो को अगर यू-ट्यूब पर सर्च करें तो ये बीते महीने में दो अलग चैनलों से अपलोड हुआ था. एक वीडियो 30 सितंबर और दूसरा तीन अक्टूबर को अपलोड हुआ था. इन वीडियो के कैप्शन में कहीं भी इस महिला के मोदी की मां होने का कैप्शन में ज़िक्र नहीं है.
2 years ago