Dr. Kumar Vishwas

Writer

Official page of Dr Kumar Vishvas
https://twitter.com/DrKumarVishwas
कोई दीवाना कहता है...


This page relates to poetry, latest information and contact details of Indian Poet, Performer and Motivational Speaker Dr Kumar Vishwas. Dr Kumar Vishwas, known for his modern style of Hindi and Urdu poetry that appeals the masses and the classes, have brought a massive section of Global audiences to his following through his unmatched mesmerism.
This page aims to host a huge collection of Dr Kumar Vishwas' poetry in Text, Still Visual, Audio and Video formats.

0:25
“पग-पग रोटी, डग-डग नीर, मालव धरती गहन गभीर” ❤️ यूरोप के एक कौने में समंदर के किनारे पहाड़ पर बैठा हूँ लेकिन 😍 मालवा मेरे तन-मन-प्राण की प्रिय रंगभूमि है ! विश्व भर के भ्रमण में मेरे साथ मालवा के, इंदौर के, उज्जैन के, रतलाम के सेव (इंदौरी में बोलें भिया तो, सेऊ😜) सदा साथ रहते ही हैं ! और मज़ा ये कि मैंने ये सेव शायद ही कभी स्वयं ख़रीदे हों ! हर मालवा यात्रा में कोई न कोई परिजन-प्रियजन-आयोजक-प्रशंसक, मेरे स्टाफ़ को सेव के अलग-अलग तरह के ढेर सारे पैकट्स पकड़ा ही जाता है, और वो भी कि इस धौंस भरे स्नेहिल आदेश के साथ कि “भिया को खिला देना, धियान से, हम बोल्लएँ हैं तुमकू भिया “ 😍 वैसै भी हम तो बाबा तुलसी की चरणरज के सरलकण । “गुलाम है राम को, जाको रूचे सो कहे कछु कोऊ ।मांग के खाइबो , मसीत में सोइबो , लेवे को एक न देवे को दोऊ...।।” ❤️🙏😍 Durdle Door
30 days ago
1:15
अंग्रेज़ों द्वारा अपने ग़ुलाम देशों पर थोपे गए आभिजात्य क्रिकेट की हार-जीत से शायद हम सब इतने अभिभूत हैं कि पिछले पंद्रह दिनों में पाँच बार गोल्ड मैडल जीतने वाली हमारी स्वर्ण परी हिमा दास की इन विश्वविजयी उड़ानों का आकाश, अपनी शुभकामनाओं तक से नहीं गूँजा पा रहे ! पर तुम दौड़ो हिमा...जमकर दौड़ो...करोड़ों भारतपुत्रियो के अधूरे सपने अपने पैरों में बाँधकर दौडो ! दौडो कि भारत की हर बेटी के हिस्से की ज़मीन तुम्हे अपने क़दमों से नापनी है ! दौड़ो कि तुम्हारे सामान्य से घर की मज़बूत नींव में तुम्हारी जिजीविषा का आधार है ! हिमा की एक हालिया स्वर्णिम दौड़ का वीडियो देखकर आँख गौरव के गीलेपन से आबाद हो गई ! देखिए और हिंदुस्तान ज़िंदाबाद बोलकर हमारे घर की इस बिटिया और ऐसी हर बेटी को आदर-स्नेह से भरकर रास्ता दीजिए...बेटियाँ दौड़ती-भागती अच्छी लगती हैं, चीख़ती-काँपती नहीं 😍😍🇮🇳🙏
1 month ago